न तेरा इन्तजार होता -heart touching love poem in hindi for girlfriend

ऐसी कहाँ मेरी किस्मत
कि आपका प्यार हमें मिलता
बस इतनी सी है ख्वाइश
कि दीदार आपका मिलता |

ये नज़रे मिल जाए नज़रों से
ऐसी कैसे करे हम हिमाकत
छुप छुप कर देखते है
दिल पे इख्तियार नहीं होता | Read More»

Continue Reading

हम हँसते हुए अच्छे नहीं लगते | Dard bhari kavita by girlfriend

हम हँसते हुए अच्छे नहीं लगते | Dard bhari kavita by girlfriend
गुण से, सौभाग्य से
रूप से ,अनुराग से
कभी कोयल सा गाके
कभी तितलियों सा पंख सजा के
हर वक्त बस तुझको रिझाया
ये मानकर कि जिंदगी
न तुम्हारे मिलने से पहले कभी शुरू हुई थी
और ना तुम्हारे जाने के बाद कभी होगी | Read More»

Continue Reading

खुद मान जाती तो अच्छा | Hindi Romantic kavita for girlfriend

बातों से जिसकी टीस सी होती है
उसी से रोज़ बातें करने को जी करता है
उसकी बेतुकी बातों में
जिंदगी के मायने ढूढंता फिरता हूँ
वो हर बार मुझसे मिलते है बेवजह
मैं हर मुलाकात की वजह ढूंढता फिरता हूँ | Read More»

Continue Reading

Bewafai Hindi Poem – ना कोई प्यार , न कोई छलावा

प्यार के हर रंग देखे मैंने
पहले आँखों के टकराने से लेकर
देह के टकराने तक
और फिर विचारों के टकराने से लेकर
पसंद के टकराने तक |
उठना बैठना, खाना पीना, जागना सोना
हर बात पे टोकना , प्यार हो भी सकता है
पर वो प्यार जो उसे कभी था हीं नहीं
सबको साबित करना चाहती है
और इसी चक्कर में
मज़ाक बन गईं है, प्यार की मीठी - मीठी बातें
और तमाशा बन गया है हमारा रिश्ता
जिसमें वो मदारी और मैं बन्दर बन नाच रहा ! Read More»

Continue Reading

Hindi Sad Poem -Raftar Pakad Rahi Hai Jindagi

उसकी आँखों में विनय था या अभिनय क्या पता
मासूम मुखड़ा देख कालेजा फटता, हृदय टूटता रहा
सारी ख़ुशी, धन-वैभव, देह-अंग जैसे दूर हुआ
याद नहीं पहले कब इतना मजबूर हुआ
खुद को संभाल लू, इस पल कोई कोई रोक ले
रफ़्तार पकड़ रही है जिंदगी !!

याद नहीं सोया था खोया था
हाँ उस रात मगर मैं बहुत रोया था
मिन्नतें मजबूरियों में जंग थी छिड़ी हुई
एक झलक बस दिखला जाते आस पास यहीं कहीं
दूर जाके मिलने का तुमसे वक्त कहाँ
रफ़्तार पकड़ रही है जिंदगी !! Read More»

Continue Reading

Hindi Love Poem – Kismis Si Jalti Mastiya

Best Romantic Hindi Kavita
किशमिश सी जलती मस्तियाँ
लपट- झपट उठता मीठा मीठा धुआँ
ओस से भीगे घास पे धधकते कोयले
फिर भी ठण्ड से काँपती सिकुड़ती वादियाँ !

सिलवटों के सिलसिले में सिमटा हुआ मैं
वो सर्दियों में गर्मियों के दिन गिनता हुआ मैं
अन्घुआया हुआ निहारता तेरी अंगड़ाई
पानी के बुलबुलों सा बनता मिटता हुआ मैं  ! Read More»

Continue Reading
Romantic Hindi Love Poem – Armaan Jagaye |अरमान जगाएं
Romantic Hindi Love Poem - Armaan Jagaye

Romantic Hindi Love Poem – Armaan Jagaye |अरमान जगाएं

इतना सोच समझ के
कब तक चलेंगे खुद से बच के
क्यों न फिर बेपरवाह हो जाएँ
एक दूजे में फिर से खो जाएंं ।

थोड़ा इठला के शर्मा के
थोड़ा मुस्कुरा गुनगुना के
शिकायतों को तमाशा दिखाएँ
मीठी यांदो को दावत पे बुलाएँ । Read More»

Continue Reading

Hindi Love Poem – Meri Yaden | मेरी याँदे

शाम सवेरे तेरे बांहों के घेरे ,
बन गए हैं दोनों जहाँ अब मेरे
क्या मांगू ईश्वर से पा कर तुझे मैं
क्या सबको मिलता है ऐसा दीवाना
फिर लौट आएगा वो गुजरा ज़माना ।

चले जाते ऑफिस, कैसी ये मुश्किल
तुम बिन कुछ में भी नहीं लगता दिल
मेरे पास बैठो, छुट्टी आज ले लो
हो रही बारिश,है मौसम कितना सुहाना
फिर लौट आएगा वो गुजरा ज़माना । Read More»

Continue Reading

Hindi Comedy Poem |Hasya Kavita|तीन नमूने

कॉलेज के नमूनो में था नंबर पहला,दूसरा व तीसरा
गोबर के ढ़ेर से निकले ,झा,ठाकुर और मिसरा
कॉलेज की माल तम्मना के लट देख मिसरा को डर लगता है
ठाकुर को उसपे डायन चुड़ैल का असर लगता है
ज्ञानी झा कहते है ई तो शहर का फैशन है
क्या गाँव में नहीं रचाते मेहंदी,लगाते उबटन है ?

जाने किस युग में अवतरित हुआ ये ब्रह्मचारी
मिसरा कॉलेज की लड़की को कहता है नारी
मूरख जेट के जमाने में चला रहा बैल गाड़ी
आज दुशाशन मिल भी जाए, कहाँ मिलेगी खींचने को साड़ी
माइक्रो पहन के कहती है मैं हूँ बड़ी शर्मीली
अगर बेशर्म हो जाए तो पैंट हो जायेगी गीली  !! Read More»

Continue Reading

Hindi Romantic Poem -आओ सखी साथ एक शाम गुजारे

आओ सखी साथ एक शाम गुजारे
हरे नरम घास पर बैठे डूबते सूरज को देखे
अलसाए हुए बिना कुछ कहे एक दुसरे को घंटो निहारें
आओ सखी साथ एक शाम गुजारे |

फैसला ये तुमको करना हीं होगा आज
क्या तुम्हे भी मुझ पर है इतना नाज़
क्या हम भी तुम्हे लगते है इतने हीं प्यारे
आओ सखी साथ एक शाम गुजारे | Read More»

Continue Reading
Close Menu
0 0 0 0